Read in App

Daily Insider Desk
• Thu, 14 Jul 2022 10:09 am IST

बिज़नेस

डब्ल्यूटीआई क्रूड की कीमत घटी, जानिए आपको कितना मिलेगा इसका फायदा...

दुनियाभर में आर्थिक मंदी आने की चिंताओं के बीच कच्चे तेल की कीमतों में लगातार गिरावट आ रही है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल तीन महीने में सबसे सस्ता होकर 100 डॉलर प्रति बैरल के नीचे पहुंच गया। 

डॉलर में मजबूती, कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते सबसे बड़े तेल आयातक चीन में सख्त पाबंदियों और दुनियाभर में मांग घटने के कारण कच्चे तेल की कीमतें गिरी हैं। इससे अमेरिकी तेल मानक वेस्ट टेक्सस इंटरमीडिएट कच्चा तेल गिरकर 96.09 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। इससे पहले अप्रैल की शुरुआत में कच्चे तेल की कीमतें 100 डॉलर प्रति बैरल पहुंच गया है। हालांकि, वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड एक फीसदी तेजी के साथ 100.5 डॉलर प्रति बैरल पहुंच गया।     

दरअसल, रूस-यूक्रेन युद्ध की शुरुआत के बाद आपूर्ति बाधित होने से कच्चे तेल और अन्य कमोडिटी की कीमतें तेजी से बढ़ी थीं। इससे फरवरी के आखिरी हफ्ते में कच्चा तेल 90 डॉलर प्रति बैरल से बढ़कर 115 डॉलर प्रति बैरल के उच्च स्तर पर पहुंच गया था। इधर, महंगाई पर काबू पाने के लिए केंद्रीय बैंकों के ब्याज दरें बढ़ाने से भी बाजार प्रभावित हुआ है। ऐसे उपायों से अर्थव्यवस्था को रफ्तार तो मिलेगी, लेकिन आने वाली मंदी से कच्चे तेल की मांग प्रभावित होगी।