Read in App

Daily Insider Desk
• Thu, 14 Jul 2022 6:40 pm IST

जन-समस्या

विद्युत संविदा मजदूर संगठन ने किया धरना प्रदर्शन

18 महीने में 18 बार धरना प्रदर्शन के बाद मिला वेतन
शाहजहांपुर: तीन महीने से वेतन न मिलने से नाराज विद्युत संविदा कर्मियों ने धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया है। नाराज विद्युत संविदा कर्मी अधीक्षण अभियंता कार्यालय के बाहर अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठ गए हैं। विद्युत कर्मियों की मांग है कि अप्रैल और मई के वेतन को उनके खातों में निर्गत किया जाए। टीएनपी सुरक्षा किट उपलब्ध कराईं जाए। लगातार हो रहे हादसों के बाद भी संविदा कर्मियों को सुरक्षा किट नहीं उपलब्ध कराई जा रही है।
संगठन मंत्री अशोक कुमार पाल ने बताया कि कार्यदाई संस्था और विद्युत विभाग के तमाम अधिकारियों को पत्र के माध्यम से कई बार संविदा विद्युत कर्मियों की समस्याओं से अवगत कराया जा चुका है, लेकिन आज तक कोई भी समस्या का समाधान नहीं हुआ है। इसके बाद आज से उन्होंने धरना प्रदर्शन शुरू किया है। आगे चलकर कार्य बहिष्कार और अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन में भी तब्दील हो जाएगा। 18 महीने  में वेतन के लिए 18 बार जिले के सभी कर्मचारियों को अधीक्षण अभियंता कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन करना पड़ा है। जिसके बाद ही वेतन मिला है। वहीं मामले में अधीक्षण अभियंता जेबी सिंह ने बताया कर्मचारियों का वेतन कार्यदाई संस्था की तरफ से रोका गया है, जिसकी रिपोर्ट शासन को भेज दी गई है। मामले का जल्द ही निस्तारण हो जाएगा अधीक्षण अभियंता ने बताया कि कार्यदाई संस्था मनमाने तरीके से काम कर रही है। न ही कर्मचारियों को सुरक्षा किट उपलब्ध करा रही है। न समय से उनका वेतन दे रही है। समय से वेतन मिलना कर्मचारियों का अधिकार है। धरना प्रदर्शन के चलते काम में रुकावट आ रही हैं।