Read in App

Daily Insider Desk
• Mon, 16 May 2022 5:22 pm IST

अपराध

मंदिर पक्ष का दावा- ज्ञानवापी में मिला बड़ा शिवलिंग, अगली सुनवाई 20 मई को तय

प्रयागराज : वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे की कार्यवाही के बीच में इलाहाबाद हाई कोर्ट में सोमवार को ज्ञानवापी मस्जिद तथा श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर से जुड़े विवादों की सुनवाई दोपहर दो बजे से प्रारंभ हुई। मंदिर पक्ष की तरफ से कहा गया कि न्यायिक मजिस्ट्रेट के आदेश पर हो रहे सर्वे में एक बड़ा शिवलिंग मिला है। उनके साथ कई और चीजे मिली हैं। न्यायिक मजिस्ट्रेट के आदेश पर उस आदेश को सुरक्षित कर दिया गया है। कोर्ट ने फिलहाल मामले की सुनवाई को आगे बढ़ाते हुए 20 मई की तिथि तय की है।

इलाहाबाद हाईकोर्ट में वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद विवाद से जुड़ी याचिकाओं पर सुनवाई शुरू हो गई। जस्टिस पांड्या की सिंगल बेंच मामले की सुनवाई कर रही है। वाराणसी के सिविल जज (सीनियर डिवीजन) की कोर्ट में वर्ष 1991 में पंडित सोमनाथ व्यास एवं अन्य ने वाद दायर किया था। इसी मामले में बीते साल सिविल जज (सीनियर डिवीजन फास्ट ट्रैक) आशुतोष तिवारी ने पुरातात्विक सर्वेक्षण कराने का आदेश जारी किया था। अंजुमन इंतजामिया मसाजिद एवं सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने सिविल जज (सीनियर डिवीजन) के आदेश के खिलाफ इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर कर रखा है। जिस पर सुनवाई चल रही है।

इलाहाबाद हाई कोर्ट में वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर-ज्ञानवापी मस्जिद विवाद पर सुनवाई न्यायमूर्ति प्रकाश पाडिया की सिंगल बेंच में की जा रही है। श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर तथा ज्ञानवापी मस्जिद की जमीन के विवाद को लेकर मस्जिद कमेटी और सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की याचिका पर हाई कोर्ट में आज सुनवाई थी। इस याचिका में वाराणसी के जिला न्यायालय के एएसआई सर्वेक्षण आदेश को चुनौती दी गई है। केस में मस्जिद कमेटी ने याचिका में एएसआई सर्वेक्षण के आदेश को पूजा स्थल अधिनियम 1991 का उल्लंघन बताया है।