Read in App

Daily Insider Desk
• Wed, 13 Jul 2022 1:09 pm IST

ब्रेकिंग

लोकल टूरिज्म और आर्टिस्ट को मिलेगा बढ़ावा, इको टूरिज्म बोर्ड का होगा गठन: पर्यटन मंत्री

  • मंत्री जयवीर सिंह ने योगी सरकार के 100 दिन पूरे होने पर पर्यटन विभाग की गिनाईं उपलब्धियां  

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश की योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर लगातार मंत्री अपने-अपने विभागों का लेखा-जोखा पेश कर रहे हैं। इसी क्रम में बुधवार को प्रदेश के पर्यटन एवं संस्‍कृति मंत्री जयवीर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए अपने विभाग और सरकार की उप‍लब्धियों के बारे में जानकारी दी।

विभागीय उपलब्धियों पर आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह ने कहा कि योगी राज में कानून व्यवस्था में बड़ा बदलाव आया है, जिससे पर्यटन और निवेश बेहतर हुआ है। उन्‍होंने कहा, कोरोना के समय पर्यटन उद्योग प्रभावित हुआ था, लेकिन उसके बाद पर्यटन और उद्योग को आगे ले जाने का काम हुआ है। मंत्री ने कहा कि सभी जिलों में पर्यटन-संस्कृति विकास बोर्ड का गठन किया गया है, जिसके अध्‍यक्ष जिलाधिकारी होंगे। साथ ही इस बोर्ड में स्थानीय विधायक और सांसद भी शामिल होंगे।

राज्य पर्यटन निगम 10 करोड़ रुपये तक के कार्य करेगा

पर्यटन एवं संस्‍कृति मंत्री ने कहा कि लोकल टूरिज्म और आर्टिस्ट को बढ़ावा मिलेगाराज्य पर्यटन निगम कार्यदायी संस्था नामित की गई है, जो निर्माण संबंधी कार्यों को देखेगी। साथ ही निगम को घाटे से बाहर निकालने की कोशिश जारी है। उन्‍होंने कहा कि राज्य पर्यटन निगम 10 करोड़ रुपये तक के कार्य करेगावर्तमान में 25 करोड़ जनसंख्या वाला राज्य अपनी विविध पर्यटन क्षेत्रों के विभिन्नता के साथ आस्था एवं अर्थ व्यवस्था के प्रति समदर्शी भाव रखता है। हमारी सरकार किसी धर्म या सम्प्रदाय के साथ कोई भेद नहीं करती है। आज हमारे आस्था के नाम बिन्दु अयोध्या, काशी और मथुरा का पुरातन वैभव फिर से शोभायमान हो रहा है तो रामायण परिपथ, कृष्ण परिपथ, बौद्ध परिपथ भी तैयार हो रहे हैं। यहां विंध्यवासिनी दरबार एवं नैमिष धाम, देवीपाटन, बटेश्वर धाम, शीतलामाता मंदिर संवर रहा है तो वहीं, अयोध्या की दीपोत्सव, काशी की देव दीपावली, ब्रज रंगोत्सव ने इस पुण्य प्रदेश को वैश्विक पटल पर नयी पहचान दिलाई है। यह अनवरत वर्ष 2017 से चल रहा है, जिसका वैभव पूरे विश्व में फैल रहा है।

12 धार्मिक परिपथों का कार्य जारी

मंत्री जयवीर सिंह ने कहा कि पर्यटन विभाग द्वारा पर्यटन नीति-2018 के अन्तर्गत चिन्हित किए गए 12 परिपथों रामायण परिपथ, बौद्ध परिपथ, कृष्ण या बज परिपथ, बुन्देलखण्ड परिपथ, महाभारत परिपथ, सूफी परिपथ, क्रापट परिपथ, स्वतंत्रता संग्राम परिपथ, जैन परिपथ, वाइल्ड एण्ड ईको टूरिज्म परिपथ, शक्तिपीठ सर्किट और आध्यात्मिक परिपथ का कार्य इन 100 दिनों में और आगे बढ़ा है। इन परिपथों में आने वाले सभी पर्यटक स्थलों के उच्चीकरण, नवीनीकरण और सुंदरीकरए पर विशेष बल दिया जा रहा है।

उन्‍होंने बताया कि विदेशी सैलानियों के लिए भी प्रदेश प्रमुख आकर्षण के केंद्र के रूप में स्थापित हो सके। इसके लिए केन्द्र सरकार के पर्यटन मंत्रालय द्वारा प्रासाद व स्वदेश दर्शन स्कीम के अन्तर्गत संचालित योजनाओं को प्रदेश में पूरी तरह प्रभावी बनाया जा रहा है। पर्यटन विभाग द्वारा 100 दिन के लिए तैयार की गई कार्ययोजना के तहत 170 पर्यटन विकास की परियोजनाओं के लोकार्पण का लक्ष्य रखा गया, जिसके सापेक्ष 172 परियोजनायें पूर्ण हो गई।

इन कामों पर भी एक नजर  

इसी क्रम में भारत सरकार की स्वदेश दर्शन स्कीम की बुद्धिष्ट सर्किट योजना के अन्तर्गत कपिलवस्तु में पर्यटन के आकर्षण केंद्र विकसित हो रहे हैं। यहां 40.95 करोड़ रुपये से लाइट एण्ड साउण्ड शो, बुद्धा थीम पार्क, मार्डन टायलेट फैसिलिटी, पार्किंग, टी०एफ०सी० सोलर लाईटिंग साइनेज वेस्ट मैनेजमेन्ट सीसीटीवी एवं वाई-फाई, हेलीपैड, टर्मिनल ब्लॉक, लास्टमाइल कनेक्टिविट का कार्य चल रहा है। ब्रज तीर्थ विकास परिषद के अन्तर्गत जनपद मथुरा में राल स्थित विहार वन में सुरक्षित का निर्माण कुण्डों का 13.80 करोड़ रुपये से सौन्दर्यीकरण व संरक्षण: 7.34 करोड़ रुपये से श्री गिरिराज गोवर्धन परिकमा मार्ग में सुव्यवस्थित पेयजल व्यवस्था के लिए 7.46 करोड रुपये से मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर भव्य प्रकाश व्यवस्था का कार्य और गोवर्धन बाईपास मार्ग से गोवर्धन हेलीपोर्ट (पठा) तक मार्ग का नव निर्माण कार्य किया गया।

पर्यटन मंत्री ने बताया कि उत्‍तर प्रदेश प्रो-पुअर पर्यटन विकास परियोजना के अन्तर्गत 26:47 करोड़ रुपये से कछपुरा एवं मेहताब बाग क्षेत्र का समेकित पर्यटन विकास सुंदरीकरण 26.91 करोड़ रुपये से श्रीबाँकेबिहारी जी मन्दिर क्षेत्र, वृन्दावन का समेकित पर्यटन विकास एवं सौन्दर्यीकरण और 12.84 करोड़ रुपये श्रीबाँके बिहारी जी मन्दिर क्षेत्र, वृन्दावन की चिन्हित 22 गलियों में ओवरहेड विद्युत लाईनों को भूमिगत करने का कार्य किया गया। राज्य योजनान्तर्गत अयोध्या में 21.92 करोड़ रुपये की लागत से नये क्वीन हो मैमोरियल पार्क का निर्माण: 4.59 करोड़ रुपये से अमरोहा के वासुदेव मन्दिर का पर्यटन विकास 291 करोड़ रुपये से बस्ती में 84 कोसी परिक्रमा मार्ग के प्रारम्भ व भगवान राम में उदभव स्थल मखौडा धाम हरैया में फेज-2 का पर्यटन विकास इसी तरह 191 करोड़ रुपय से बस्ती के ग्राम कसैला हरैया स्थित ऐतिहासिक स्थल तापसीधाम आश्रम के फेज-2 का और बस्ती के ही हरैया परशुराम में स्थित 1.58 करोड़ रुपये से श्रृंगीनारी मंदिर स्थल का पर्यटन विकास, 2.55 करोड रुपये से महाराजगंज फरेन्दा में स्थित लेहडा देवी स्थल का पर्यटन विकास कार्य, 3.13 करोड़ रुपये से गोरखपुर में स्थित गोरखनाथ परिसर में ड्रेनेज व शेड आदि की सुविधा विस्तार और मुख्य प्रवेश द्वार का जीर्णोद्धार कार्य: 1.39 करोड़ रुपये से बक्शीपुर गोरखपुर में के श्रीचित्रगुप्त मंदिर स्थल का विकास और सौन्दर्यीकरण: 1.21 करोड़ रुपये से गोरखपुर में ही पिपराईच रोड के निकट बुढिया माई स्थल का सौंदर्यीकरण व पर्यटन विकास और 1.92 करोड़ रुपये से तरकुलहा देवी स्थल गोरखपुर का पर्यटन विकास और सौन्दर्यीकरण का विकास कार्य किया गया।

आयोजित किए गए मेला और महोत्‍सव

योगी सरकार के मंत्री ने बताया कि सभी जिलों में जिला पर्यटन एवं संस्कृति परिषदों के गठन की कार्ययोजना के अन्तर्गत परिषदों के गठन का शासनादेश इन्हीं 100 दिवसों के बीच जारी हुआ। प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित कराये जाने वाले मेले महोत्सवों की अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर मार्केटिंग एवं ब्राण्डिंग के उद्देश्य से 9 से 12 मई तक दुबई में आयोजित अरेबियन ट्रैवेल मार्ट-2022 में पर्यटन विभाग ने प्रतिभाग किया। पर्यटन के क्षेत्र में निवेश प्रोत्साहन के लिए 27 देशों के 65 से अधिक निवेशकों और दूर आपरेटर्स के अलावा अन्तर्राष्ट्रीय मीडिया के प्रतिनिधियों के साथ उत्तर प्रदेश के पर्यटन स्थलों के संग मुख्य रूप से दीपोत्सव, देव दीपावली, रंगोत्सव आदि कार्यक्रमों, व्यंजनों और मेले महोत्सवों पर प्रस्तुतिकरण किया गया।

पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह ने बताया कि पर्यटन विभाग द्वारा 18-20 मई तक नोएडा में आयोजित राष्ट्रीय ट्रैवेल मार्ट सार्ट-2022 में उत्तर प्रदेश पर्यटन द्वारा धार्मिक पर्यटन पर आधारित प्रदर्शनी लगायी गयी। साथ ही यहां 40 से अधिक मीटिंग्स करायी गयीं। एडवेन्चर टूरिज्म को प्रोत्साहन देने के लिए 29 अप्रैल से 1 मई तक ब्रज- आगरा कार रैली का 103 दिवसीय आयोजन आगरा और उसके आस-पास के क्षेत्रों में सफलतापूर्वक कराया गया। बुद्ध पूर्णिमा के 16 मई को वाराणसी, कुशीनगर, श्रावस्ती और संकिसा में बुद्धिष्ट कनक्लेव का भव्य आयोजन कराया गया। संतकबीर के प्राकट्य दिवस के अवसर पर लखनऊ के इन्दिरा गाँधी प्रतिष्ठान में भी 14 से 21 जून तक अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस की थीम के आधार पर वेलनेस टूरिज्म कान्क्लेव का आयोजन किया गया।

अब इनका किया जाएगा विकास

उन्‍होंने बताया कि उत्तर प्रदेश को ईको टूरिज्म के गन्तव्य के रूप में स्थापित किए जाने के उद्देश्य से ईको एण्ड रूरल टूरिज्म बोर्ड के गठन की कार्यवाही प्रचलन में हैं। इको टूरिज्म बोर्ड के गठन की कार्यवाही के साथ एक राष्ट्रीय उद्यान, 11 वन्य जीव अभ्यारण, 24 पक्षी अभ्यारण, नौ इको टूरिज्म सर्किट भी विकसित किए जाएंगे। ब्रज तीर्थ विकास परिषद ने चालू वित्तीय सत्र में सड़क एवं परिवहन राज्यमार्ग भारत सरकार और उत्तर प्रदेश के विभिन्न विभागो के साथ दिल्ली में समन्वय बैठक कर ब्रज में 84 कोसी परिक्रमा पथ का निर्माण कराने के साथ लम्बित योजनाओं को लागू कराया गया।