Read in App

Daily Insider Desk
• Sun, 17 Jul 2022 8:00 pm IST

नेशनल

दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा, नहीं दे सकते गर्भपात की इजाजत, महिला बोली- मानसिक रुप से नहीं हूं तैयार

दिल्ली की उच्च अदालत ने एक मामले में सहमति संबंध से गर्भवती 25 वर्षीय युवती के 23 सप्ताह के गर्भ को गिराने की मंजूरी के आग्रह को खारिज कर दिया है। साथ ही कहा कि, कानून में आपसी सहमति से गर्भवती महिला गर्भपात की अनुमति नहीं मांग सकती। 

अदालत ने स्पष्ट किया कि, कानून में दुष्कर्म पीड़ित, जीवन को खतरा या शारीरिक या मानसिक स्वास्थ्य को गंभीर चोट लगने की संभावना के चलते ही 20 सप्ताह से ज्यादा के गर्भ को गिराने की मंजूरी मिलती है। इसके अलावा अदालत ने तय कानून के मुद्दे पर दिल्ली के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

स्वास्थ्य विभाग को जवाब दाखिल करने का निर्देश देते हुए सुनवाई 26 अगस्त तय की है। 
महिला की अपील, मां बनने के लिए मानसिक रूप से तैयार नहीं है। और विवाह के बिना बच्चे को जन्म देने से उसका बहिष्कार होगा और उसकी मानसिक पीड़ा बढ़ेगी। और गर्भावस्था को जारी रखने से उसे गंभीर शारीरिक और मानसिक चोट पहुंचेगी।
यह भी पढ़ें ...
UP Election 2022 : जिला निर्वाचन अधिकारी ने वेबकास्टिंग व्यवस्था का किया निरीक्षण
Daily Insider Desk • Sat, 5 Mar 2022 9:38 pm IST
बागपत की इन तीन सड़कों से बीजेपी पकड़ेगी नई चुनावी रफ्तार, जानिए क्या है मामला
Daily Insider Desk • Mon, 20 Sep 2021 3:50 pm IST
चीन में शादी के लिए नहीं मिल रही हैं लड़कियां, कंवोडिया और वियतनाम से लड़कियों की हो रही तस्करी
Daily Insider Desk • Mon, 29 Aug 2022 9:00 pm IST
येलो शरारा में शमिता शेट्टी लगीं बेहद खूबसूरत, बहन शिल्पा के साथ शेयर की तस्वीरें...
Daily Insider Desk • Thu, 1 Sep 2022 3:30 pm IST
बरेली में 4 जनवरी को होगी कांग्रेस की 'लड़की हूं, लड़ सकती हूं' मैराथन दौड़
Daily Insider Desk • Sun, 2 Jan 2022 7:42 pm IST
UP Election 2022 : सोनभद्र की चारों सीटें पर तीन बजे तक 49.79 फीसद हुआ मतदान
Daily Insider Desk • Mon, 7 Mar 2022 5:33 pm IST