Read in App

Daily Insider Desk
• Tue, 12 Jul 2022 10:44 pm IST

अपराध

मरणासन्न तांगे वाले की रिपोर्ट दर्ज न करने में भुता इंस्पेक्टर और चौकी इंचार्ज लाइन हाजिर

दो दिन पहले तांगे में बाइक घुसने से हो गई थी चालक की मौत
मृतक के परिवार और संबंधियों ने घर से खींचकर तांगे वाले को पीटकर कर दिया था अधमरा, पुलिस ने दर्ज नहीं की तांगे वाले की रिपोर्ट
बरेली: नवागत एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने भुता इंस्पेक्टर देवेंद्र सिंह तोमर के साथ ही चौकी इंचार्ज कुलदीप सिंह को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया। इंस्पेक्टर और चौकी इंचार्ज ने एक पक्ष से प्रभावित होकर तांगा चालक से 5 किलोमीटर तक घसीटते हुए मारपीट करने वाले हमलावरों पर कार्रवाई नहीं की। यहां तक कि पीड़ित व्यक्ति के हमलावरों पर रिपोर्ट तक दर्ज नही की गई। 
दो दिन पहले भुता थाना क्षेत्र के गांव केसरपुर निवासी मोहन पुत्र जोगराज अपना तांगा लेकर शाम लगभग 7 बजे घर जा रहा था। तभी बीसलपुर रोड स्थित सिसैया गांव से कुछ दूर पहले मोड़ पर मोटर साइकिल सामने से आकर तांगे में घुस गई। 
हादसे में मोटर साइकिल सवार लोकेश निवासी गम्भीर रूप से घायल हो गया। बाद में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। उसके साथ तीन बाइक पर अन्य लोग भी दावत में जा रहे थे। लोकेश की मौत से नाराज मृतक के परिजनों और उसके दोस्तों ने दो दिन पहले तांगा चालक के साथ घर बहुत देर तक मारपीट की। इतना ही नहीं, हमलावर प्रजापति समाज के तांगा चालक को मारते, घसीटते हुए 5 किलोमीटर दूर कमुआ गांव तक ले गए। रास्ते में ही पुलिस चौकी भी पड़ती है। वहां के चौकी इंचार्ज कुलदीप सिंह ने भी हमलावरों को मारने पीटने से नही रोका। 
हमलावर तांगा चालक को मरणासन्न हालत में छोड़कर भाग गए। पीड़ित तांगा चालक के परिवार ने घटना की शिकायत पहले पुलिस चौकी में की। वहां जब चौकी इंचार्ज कुलदीप सिंह ने नही सुनी तो इन्स्पेक्टर के पास गए। इंस्पेक्टर ने इस मामले को ठन्डे बस्ते में डाल दिया। एक पक्ष के दबाव में पीड़ित तांगा चालक की रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई। परिवार वालों ने तांगा चालक को बरेली के निजी अस्पताल में भर्ती कराया। अब भी एक निजी अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। इससे पहले उसकी गंभीर हालत को देखते हुए दो अस्पतालों में डॉक्टरों ने उसका इलाज करने से मना कर दिया। इस मामले की जानकारी एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज को हुई तो उन्होंने इस घटना में पुलिस कर्मियों की लापरवाही मानते हुए इंस्पेक्टर भुता और चौकी इंचार्ज कुलदीप सिंह को लाइन हाजिर कर दिया। 
घटना में बाइक सवार की हुई थी मौत
 भुता थाना क्षेत्र में सोमवार को तेवतिया गांव का रहने वाला बाइक सवार लोकेश पड़ोस के गांव में जन्मदिन समारोह में जा रहा था। इसी दौरान उसे एक तांगा चालक ने टक्कर मार दी। जिसमें बाइक सवार की मौत हो गई। घटना की सूचना पर काफी देर बाद पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। घटना के बारे में पहले यह जानकारी आई थी कि किसी अज्ञात वाहन की टक्कर में बाइक सवार लोकेश की मौत हुई है। मगर बाद में पता चला कि उसकी बाइक खुद ही तांगा के नीचे घुस गई थी। जबकि उसके अन्य साथी बच गए थे। 
पूर्व विधायक ने एसएसपी को दी थी घटना की जानकारी
तांगा चालक से हमलावरों की बेरहमी से मारपीट की जानकारी बिथरी चैनपुर के पूर्व विधायक राजेश कुमार मिश्र पप्पू भरतौल ने दी थी। पूर्व विधायक की बात की पुष्टि होते ही एसएसपी ने कोतवाली प्रभारी निरीक्षक देवेंद्र सिंह तोमर को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया। उनके साथ ही चौकी प्रभारी कुलदीप सिंह को भी लाइन हाजिर कर दिया गया। 
फरियादियों की प्रति है बेहद नरम हैं एसएसपी
एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने जबसे कमान संभाली है, तब से वह लगातार फरियादियों को प्राथमिकता दे रहे है। नए एसएसपी अपने कार्यालय पर पहुंचने वाले फरियादियों की बात को ध्यान से सुनते है। उसके बाद तुरंत केस के हिसाब से संज्ञान लेते है। दफ्तर पहुंचने वाले फरियादी एसएसपी की कार्यशैली से बेहद खुश है।