Read in App

Daily Insider Desk
• Fri, 15 Jul 2022 7:07 pm IST

एक्सक्लूसिव

सीएम योगी ने किया उद्घाटन... फिर पढ़ी गई नमाज, जानिए कैसे विवादों में घिर रहा देश का सबसे बड़ा मॉल Lulu

विवाद में घिरता जा रहा Lulu Mall, हिंदू महासभा के बाद संतों ने दी चेतावनी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 10 जुलाई को उत्तर भारत के सबसे बड़े मॉल Lulu Mall का उद्घाटन किया था। राजधानी के सुशांत गोल्फ सिटी में 11 एकड़ में लुलु मॉल को करीब 2 हजार करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है। इसके साथ ही 1,85,800 स्क्वायर मीटर में बने देश के सबसे बड़े शॉपिंग मॉल्स में शुमार लुलु मॉल को शहरवासियों के लिए एक बड़ी सौगात भी माना जा रहा है। हालांकि, उद्घाटन के दो दिन बाद 13 जुलाई को 50,000 लोगों की कैपेसिटी को ध्यान में रखते हुए और सभी सुविधाओं से लैस लुलु मॉल एक बड़े विवाद में घिरता नजर आ रहा है। दरअसल, सोशल मीडिया पर लुलु मॉल में कुछ लोगों का नमाज पढ़ते हुए वीडियो वायरल हुआ, जिसपर कई हिंदू संघटनों और नेताओं ने अपना विरोध जताया है। इसके बाद लुलु मॉल को लुलु मस्जिद बताते हुए अखिल भारत हिंदू महासभा ने लुलु मॉल में सुंदरकांड का पाठ करने का ऐलान कर दिया, जिसे देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस और पीएसी के जवानों की तैनाती की गई है।  

हिंदू महासभा का सुंदरकांड का पाठ करने का ऐलान

घटना का वीडियो वायरल होने के बाद अखिल भारत हिंदू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शिशिर चतुर्वेदी ने लुलु मॉल को लुलु मस्जिद बताया। उन्होंने कहा यहां पर जमीन खरीद कर अलग तरीके का एजेंडा चलाया जा रहा है। शिशिर चतुर्वेदी ने कहा कि अखिल भारत हिंदू महासभा ने लुलु मॉल में सुंदरकांड का पाठ करने का ऐलान किया था, लेकिन लुलु मॉल के जनरल मैनेजर समेत तीन अधिकारियों ने मामले को जल्द सुलझाने का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा, लुलु मॉल लखनऊ के लोगों के लिए एक बहुत बड़ी सौगात है। ऐसे में इस तरह की घटनाओं की अनदेखी नहीं की जाएगी। शिशिर चतुर्वेदी ने कहा, लुलु मॉल की तरफ से माफी और कार्रवाई के लिये समय मांगा गया है, इसलिए अखिल भारत हिंदू महासभा ने सुंदरकांड के पाठ को एक हफ्ते के लिए आगे बढ़ाने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि प्रशासन की ओर से शांति बनाए रखने की अपील के साथ उनको नजरबंद भी किया गया था।


महंतों के साथ नेताओं ने भी जताया विरोध

हनुमान गढ़ी अयोध्या के महंत राजू दास ने भी घटना पर लुलु मॉल में हनुमान चालीसा का पाठ पढ़ने का ऐलान किया। उन्होंने कहा, देश के सबसे बड़े माल्स में शुमार लुलु मॉल में घटी घटना काफी निंदनीय है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से मॉल में नमाज पढ़ी गई, हमें हनुमान चालीसा का पाठ करने से कोई रोक नहीं पाएगा। इसके साथ ही बीजेपी सांसद सतीश गौतम ने भी पूरी घटना की निंदा की है। उन्होंने कहा, मॉल प्रबंधन ने भले ही किसी भी धार्मिक प्रार्थना की पाबंदी परिसर में लगा दी हो, लेकिन उन्हें तत्काल प्रभाव से दोषियों को चिन्हित कर उन पर कार्यवाही सुनिश्चित करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हम सभी धर्मों का सम्मान करते हैं, लेकिन इस तरह के किसी भी धार्मिक आयोजनों की इजाजत नहीं दे सकते। इस प्रकार की पर लगाम लगाने की जरूरत है।


लुलु मॉल की तरफ से पेश की गई सफाई

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद शुरू हुए विवाद को देखते हुए लुलु मॉल की तरफ से धारा 135A, 295A, 341 समेत कई अन्य धाराओं में मॉल के अंदर नमाज पढ़ने वालों पर FIR दर्ज कराई गई है। मॉल के जनरल मैनेजर समीर वर्मा ने पूरी घटना पर कहा कि मॉल में नमाज पढ़ने वाले हमारे कर्मचारी नहीं थे। हमने इसकी अच्छे से जांच करा ली है। नमाज पढ़ने वाले लोगों की पहचान कराई जा रही है। उन्होंने कहा, मॉल में किसी संगठित, धार्मिक या प्रार्थना की अनुमति नहीं है। मॉल के अंदर दोबारा ऐसी कोई घटना नहीं होने दी जाएगी। इसके लिए पूरे मॉल परिसर में किसी तरह की धार्मिक प्रार्थना ना करने का नोटिस भी चस्पा कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि हिंदू महासभा के पधाकारियों से बातचीत कर पूरा मामला सुलझाया जाएगा।


लुलु मॉल के बाहर फोर्स की गई तैनात

लुलु मॉल के अंदर अखिल भारतीय हिंदू महासभा के जुमे के दिन यानी शुक्रवार को सुंदरकांड का पाठ करने के ऐलान को देखते हुए बड़ी संख्या में फोर्स तैनात कर दी गई थी। हालांकि, बातचीत कर हिंदू महासभा को ऐसा ना करने के लिए मना लिया गया है। शांति व्यवस्था कायम रखने के मद्देनजर जिला प्रशासन और पुलिस विभाग लुलु मॉल की घटना को लेकर अलर्ट मोड पर है। लखनऊ जिलाधिकारी सूर्यपाल गंगवार ने लुलु मॉल पहुंचकर पूरी स्थिति का खुद जायजा लिया। उन्होंने मॉल प्रशासन को दोबारा इस तरह के विवाद ना होने को लेकर सतर्कता बढ़ाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही अंसल थाने की फोर्स को भी मॉल के बाहर तैनात किया गया है। और पीएसी की एक बटालियन के जवान मॉल के अंदर और बाहर हर गतिविधि पर अपनी नजर बनाए हुए हैं। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए पुलिस जवानों को निर्देश दिए गए हैं। कोई भी संदिग्ध गतिविधि दिखने पर तत्काल प्रभाव से जरूरी कार्यवाही की जाएगी। मामले में पुलिस के साथ मॉल की सिक्योरिटी टीम भी लगातार सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है।


यह भी पढ़ें ...
पुलिस ने गुलाब का फूल देकर नमाजियों से की आपसी भाईचारा बनाए रखने की अपील
Daily Insider Desk • Fri, 17 Jun 2022 3:47 pm IST
UP Election 2022: बसपा के 18 स्‍टार प्रचारकों की लिस्ट जारी, जानिए कौन-कौन है शामिल
Daily Insider Desk • Sun, 23 Jan 2022 11:46 am IST
UP Election 2022: चुनाव के नतीजों में निर्णायक भूमिका निभा सकता है पोस्टल बैलट, 11 विभागों के कर्मचारियों ने किया इस्तेमाल
Daily Insider Desk • Sun, 6 Mar 2022 1:03 pm IST
लम्बित मांगों को लेकर धरने पर बैठे माध्यमिक शिक्षक संघ पांडेय गुट के सदस्य
Daily Insider Desk • Sat, 21 May 2022 4:51 pm IST
दिनदहाड़े स्कॉर्पियो का शीशा तोड़कर नगदी और लाइसेंसी पिस्टल चोरी
Daily Insider Desk • Sat, 15 Jan 2022 4:25 pm IST
जल्द पूरा होने वाला है तिराहों के सुंदरीकरण का कार्य
Daily Insider Desk • Sat, 8 Jan 2022 8:24 pm IST