Read in App

Daily Insider Desk
• Sun, 3 Apr 2022 10:19 pm IST

ब्रेकिंग

जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने ग्रामीण तक जलापूर्ति करने का अपनाया नया तरीका...

जल ही जीवन है ये तो हम सब जानते हैं लेकिन कई जगह आज भी ऐसे हैं जो पानी के अभाव में जीवन बीताने को मजबूर थे लेकिन अब ये समस्या भी दूर करने के लिए सरकार भी जुटी हुई है। बता दें, प्रदेश के जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने ग्रामीण जलापूर्ति विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की और सभी कामों को सही तरह से पूरा करने के सख्त दिशा-निर्देश दिये। इस बैठक में कई अहम फैसले लिए गए हैं। उन्होंने अधिकारियों को संदेश देते हुए कहा कि, बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र के साथ प्रदेश भर के ग्रामीणों के मोबाईल फोन पर अब "बधाई हो…, आज से आपके घर नल से स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति शुरू होगी।" इस तरह की धुन सुनाई देगी। उन्होंने ये भी बताया कि ग्रामीण जलापूर्ति विभाग अब इस जानकारी को ग्रामीणों को उनके मोबईल पर देगें। इस जानकारी को नमामि गंगे के तहत सब तक पहुंचाया जाएगा।

स्वतंत्र देव सिंह ने अधिकारियों से कहा कि बरसात से पहले आर्सेनिक और संचारी रोगों से प्रभावित गांव को प्राथमिकता के आधार पर लेकर स्वच्छ पेयजल आपूर्ति को आप सब सुनिश्चित करेंगे। साथ ही ये भी निर्देश दिया कि अफसर उन जनपदों में जाकर रात को रुकेंगे जहां ये योजना चल रही है। उन्होंने इन अफसरों के नाम की लिस्ट जल्द से जल्द तैयार करने को निर्देश दिये हैं।

बताते चले कि मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने बैठक के दौरान ये भी कहा कि हमें अथक परिश्रम से विभाग की छवि को बदलना है। उन्होंने अधिकारियों और कर्मचारियों को प्रेरित करते हुए कहा कि आप सब मेरे परिवार का हिस्सा हैं। मेरे दरवाजे सभी के लिए 24 घंटे खुले हैं। साथ ही ये भी बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उनको हर घर नल लगाने का सौभाग्य दिया है, जिससे वो इस योजना के जरिये गरीबों के घर तक स्वच्छ पेजयल पहुंचा सके और लोगों की मद्द कर सकें। उन्होंने कहा कि कठिन परिश्रम से कोई भी लक्ष्य हासिल किया जा सकता है। परिश्रम का कोई विकल्प नहीं होता  है इसलिए मैं आपके साथ हूं और मैं आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने और परिश्रम करने को तैयार हूं। विभागीय बैठक में उन्होंने कहा कि योजनाओं की रफ्तार और गुणवत्ता में अगर किसी तरह की कोई बाधा आ रही है तो आप सब मुझे बताएं मैं इसका जल्द से जल्द समाधान करने की कोशिश करुंगा।

बता दें, इस समीक्षा बैठक में प्रमुख सचिव नमामि गंगे अनुराग श्रीवास्तव, अधिशाषी निदेशक ग्रामीण जलापूर्ति अखंड प्रताप सिंह और वरिष्ठ विभागीय अधिकारी भी शामिल रहें।