Read in App

Daily Insider Desk
• Wed, 13 Jul 2022 6:26 pm IST


वेबकास्ट के माध्यम से पोषण पाठशाला का किया गया आयोजन

हरदोई: बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग द्वारा उत्तर प्रदेश के समस्त आगनबाड़ी केंद्रों पर 'प्रभावी स्तनपान हेतु सही तकनीक' विषय पर वेबकास्ट के माध्यम से पोषण पाठशाला का आयोजन किया गया। दोपहर 12 बजे पोषण पाठशाला प्रारंभ हुई। पोषण पाठशाला की शुरुआत में महिला एवं बाल विकास विभाग मंत्री बेबी रानी मौर्या ने संबोधित करते हुए पोषण पाठशाला को महिलाओं और बच्चों के स्वास्थ्य के संबंध में आम जनमानस तक महत्वपूर्ण जानकारियों को साझा करने का महत्वपूर्ण माध्यम बताया। विभाग की सचिव अनामिका सिंह एवं निदेशक डॉक्टर सारिका मोहन ने भी अपने संबोधन में कहा कि स्तनपान भारतीय समाज में पहले से ही महत्वपूर्ण माना जाता रहा है, किन्तु पश्चिमी देशों में स्तनपान को महत्वपूर्ण नहीं माना जाता था। आज सभी लोग इस बात पर सहमत हैं कि माँ के दूध से अच्छा और कोई आहार बच्चे के लिए नहीं है। 
माँ का दूध बच्चे के लिए केवल आहार ही नहीं है बल्कि उसके सर्वांगीण विकास और बीमारियों से बचाव का माध्यम भी है। प्रमुख सचिव ने कहा कि देखने में यह बात छोटी सी लगती है, किंतु इसके दूरगामी परिणाम होते हैं। यदि किसी देश में अच्छी और कार्यकुशल जनसंख्या का अभाव है तो वह देश विकास की दौड़ में पीछे छूट जाता है। इसलिए बच्चों की सेहत पर विशेष ध्यान देना बेहद ज़रूरी है।