Read in App

Daily Insider Desk
• Sat, 16 Jul 2022 11:29 am IST

ब्रेकिंग

गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के संस्थापक सरदार राजेंद्र सिंह बग्गा के जन्मदिन पर आयोजित किया गया कार्यक्रम

लखनऊ: गुरुद्वारा श्री गुरू नानक देव जी नाका हिंडोला के अध्यक्ष सरदार राजेन्द्र सिंह बग्गा के 82 वें जन्म दिन पर सिमरन साधना परिवार के बच्चों ने अमृत वेला नाम सिमरन कर गुरुद्वारा साहिब के मुख्य ग्रंथी ज्ञानी सुखदेव सिंह जी ने अरदास कर दीर्घायु की कामना की।

सरदार राजेन्द्र सिंह बग्गा ने "मेरा मुझ में कुछ नहीं जो किछ है सो तेरा " के माध्यम से परम पिता परमेश्वर का शुक्रिया अदा किया। अपना  82 वां जन्म दिन मना रहे श्री बग्गा जी का जीवन वास्तव में किसी खुली किताब से कम नहीं है। विगत 40 वर्षों से अधिक से उम्र के 82 वे वर्ष में भी  सर्वधर्म सद्भाव एवं जन सेवार्थ कार्यों के हर मंच पर आपकी उपस्थिति ही न केवल आपकी पहचान है बल्कि सभी के लिए एक प्रेरणा रहती है। 

बग्गा का मानना है कि "तुम गरीबों की सुनो वो तुम्हारी सुनेगा" यही कारण है कि  चाहे वह देश का स्वच्छता अभियान,वृक्षारोपण अभियान हो या फिर कोरोना महामारी का भयावह दौर रहा हो, आपने अपनी उम्र व स्वास्थ्य की परवाह किए बिना गरीबों एवं जरूरतमंदों की  लंगर वितरण के माध्यम से सेवा की। इस दौरान आप स्वयं भी कोरोना वायरस की  चपेट में आए लेकिन स्वस्थ होने के तुरंत बाद पुन:सेवा कार्य में लगकर निस्वार्थ सेवा का उदाहरण प्रस्तुत किया।

बग्गा का मानना है कि लोगों की दुआओं और उनके स्नेह के कारण ही जीवन के हर मुश्किल क्षण में परमपिता स्वयं उनकी रक्षा करते हैं। यह सभी की दुआओं का ही असर था कि उन्होंने  लगभग 19 वर्ष पहले कैंसर को भी मात दी एवम् निरंतर जनसेवा के कार्य में लगे हैं। उन्होंने कहा कि जरूरतमंदों की सेवा कर उन्हें आंतरिक खुशी मिलती है। 

बग्गा का कहना है कि "क्या करेगा प्यार वो भगवान को, क्या करेगा प्यार वो इंसान को, जन्म लेकर गोद में इंसान की, कर न सका प्यार जो इंसान को " यही कारण है कि आज भी सर्वधर्म, समभाव एवम् सामाजिक कार्यों के क्षेत्र में आप सभी के लिए एक प्रेरणा हैं।

आपके सार्वजनिक जीवन की उत्कृष्ठ उपलब्धियों, कृतित्व, व्यक्तित्व, सामाजिक सहकार, प्रेरणा,प्रबोधन व योगदान को अनुकरणीय मानते हुए तत्कालीन राज्यपाल राम नाईक ने 2016 में आपको गोल्डन एज अवार्ड से अलंकृत कर न केवल आपको सम्मानित किया बल्कि आपके द्वारा राजकीय बालग्रहों और ब्रद्धा आश्रमों में कराए गए लंगर वितरण की भी सराहना की थी। विगत 27 वर्षों से ऐतिहासिक गुरुद्वारा नाका हिंडोला एवं 25 वर्षों से लखनऊ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष पद पर तथा 22 वर्षों से चारबाग स्थित खालसा इंटर कॉलेज के प्रबन्धक पद पर सुशोभित होकर जन सेवार्थ कार्यों में लगे हैं। श्री बग्गा जी ने  युवाओं को निस्वार्थ सेवा कार्य करने, मेहनत करने व ईमानदारी के पथ पर चलने का संदेश दिया।

आर एल पांडेय की रिपोर्ट