अफजाल अंसारी और गाजीपुर डीएम की हुई बहस, भड़के अखिलेश यादव

Akhilesh Yadav News: मुख्तार अंसारी के अंतिम संस्कार के दौरान उनके भाई अफजाल अंसारी (सांसद) और गाजीपुर की जिलाधिकारी के बीच कथित तौर पर इस बात पर बहस हो गई कि कब्रिस्तान में कौन जा सकता है. बता दें की मुख्तार अंसारी के अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने के लिये गाजीपुर और आस-पास के इलाकों से हजारों लोग जुट गए थे. अंतिम संस्कार के दौरान जिलाधिकारी द्वारा सभी को मिट्टी देने से रोकने पर सपा प्रमुख ने सोशल मीडिया एकाउंट एक्स पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने लिखा, ‘नाइंसाफ़ी की हद तो देखो अब तो मिट्टी तक पर एतराज़ है न भूल तू ये हुक्मरान कयामत तक न हुआ किसी का राज है.’

क्या है मामला, जानिए

स्थानीय सूत्रों के अनुसार, यह बहस तब हुई, जब जिला प्रशासन ने कथित तौर पर भीड़ को नियंत्रित करने के प्रयास में कुछ लोगों को मुख्तार अंसारी की कब्र पर मिट्टी देने के लिए कब्रिस्तान में प्रवेश करने से रोक दिया.इस घटना का कथित वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया है, जिसमें अफजाल अंसारी यह कहते दिख रहे हैं,आप किसी को मिट्टी देने से नहीं रोक सकती हैं. स्थानीय प्रशासन ने अंसारी के आवास और कब्रिस्तान के बाहर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किये थे.

क्या कहा जिलाधिकारी ने

गाजीपुर की जिलाधिकारी आर्यका अखौरी ने कहा, परिवार के लोग मिट्टी दे सकते हैं. क्या क़स्बा मिट्टी देगा.अफजाल अंसारी ने पलटकर कहा, कहीं का कोई भी व्यक्ति मिट्टी देने जा सकता है. अंसारी ने कहा, धारा 144 लागू होने के बावजूद आप अंतिम संस्कार में शामिल होने से किसी को नहीं रोक सकतीं. जिलाधिकारी ने कहा कि अंतिम संस्कार की वीडियोग्राफी कराई जा रही है और कानूनी कार्रवाई की जाएगी.