पुलिस को चकमा देकर मौलाना तौकीर रजा फरार, आज कोर्ट में पेश करने का है आदेश

बरेली: साल 2010 में बरेली में हुए दंगे के लिए कोर्ट से मास्टरमाइंड ठहराए गए आईएमसी प्रमुख मौलाना तौकीर रजा सुरक्षा में लगे पुलिस कर्मियों को चकमा देकर फरार हो गए हैं। कोर्ट से गैर जमानती वारंट जारी होने के बाद स्थानीय पुलिस की एक टीम उनकी गिरफ्तारी के लिए गई है। मौलाना का मोबाइल फोन भी स्विच ऑफ है। एडीजे फास्ट ट्रैक कोर्ट रवि कुमार दिवाकर ने उन्हें गिरफ्तार कर बुधवार, 13 मार्च को पेश करने के आदेश दिए हैं। बता दें की कोर्ट ने बीते हफ्ते समन जारी कर मौलाना को 11 मार्च को हाजिर होने का आदेश दिया था।

मौलाना की सुरक्षा में दिए थे दो गनर

मौलाना तौकीर की सुरक्षा में काफी समय से बरेली पुलिस के दो गनर चल रहे हैं। कुछ दिन पहले जब मौलाना ने सामूहिक गिरफ्तारी की चेतावनी दी थी तो शहर में माहौल बिगड़ने का अंदेशा था। अफसरों ने तब मौलाना की सुरक्षा वापस लेकर गनर हटा लिए थे। हालांकि शोर मचा तो अफसरों ने तर्क दिया कि ट्रेनिंग को गनर बुलाए गए हैं।

बाद में मौलाना को दूसरे गनर दिए गए थे। इधर, गिरफ्तारी के आदेश के बाद मौलाना का पुलिस ने मौलाना से संपर्क करने की कोशिश की तो उनका फोन नंबर नहीं लगा। तब पुलिस ने उनकी लोकेशन लेने के लिए दोनों गनर से संपर्क किया तो पता लगा कि मौलाना कुछ दिन पहले ही दोनों सुरक्षाकर्मियों को बिना बताए गच्चा देकर कहीं चले गए हैं। एडीजे रवि कुमार दिवाकर की कोर्ट ने वर्ष 2010 के दंगों के आरोप में मौलाना तौकीर रजा खां के अलावा छह अन्य आरोपियों के खिलाफ भी गैरजमानती वारंट जारी किया है।