लोकसभा चुनाव को लेकर मायावती का बड़ा दांव, ढह जाएगा कांग्रेस का किला?  

लखनऊ: लोकसभा चुनाव 2024 के लिए तारीखों का ऐलान किसी भी समय हो सकता है। इससे पहले बहुजन समाज पार्टी ने बड़ा ऐलान कर दिया है, जिसके बाद से कांग्रेस पार्टी में बेचैनी बढ़ गई है।

दरअसल, उत्तर प्रदेश में रायबरेली और अमेठी सीट कांग्रेस की परंपरागत सीटें मानी जाती हैं, अब इन दोनों सीटों पर बसपा ने कांग्रेस को झटका देने की तैयारी कर ली है। पार्टी इन दोनों सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने के मूड में है।

बसपा प्रदेश अध्‍यक्ष ने कही ये बात

बसपा की तरफ से प्रदेश अध्यक्ष विश्वनाथ पाल ने कहा कि बीएसपी इस बार अमेठी और रायबरेली सीट पर अच्छे प्रत्याशी उतारने की तैयारी कर रही है। उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी 15 मार्च यानी कि आज कांशीराम की 90वीं जयंती पर पार्टी की तरफ से प्रत्याशियों की घोषणा की जाएगी। उन्होंने कहा कि बहुजन समाज पार्टी इस लोकसभा चुनाव में यूपी की सभी 80 सीटों पर मजबूती से चुनाव लड़ने जा रही है।

क्या रायबरेली और अमेठी में भी बसपा अपने उम्मीदवार उतारेगी? इस सवाल पर बसपा नेता ने कहा कि इस चुनाव में पार्टी सभी सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी। अमेठी और रायबरेली में पहले भी बसपा ने अपने प्रत्याशी उतारे हैं और इस लोकसभा चुनाव में भी उतारेगी।

सात प्रत्याशियों के नाम का किया ऐलान

लोकसभा चुनाव के लिए बहुजन समाज पार्टी ने उत्तर प्रदेश में सात प्रत्याशियों के नाम का ऐलान किया है, इसमें से पांच मुस्लिम समुदाय से आते हैं। बसपा ने पीलीभीत से अनीस अहमद खान, मुरादाबाद से इरफान सैफी, कन्नौज से अकील अहमद पट्टा, अमरोहा से डॉक्टर मुजाहिद हुसैन उर्फ बाबू भाई, सहारनपुर से माजिद अली, मुजफ्फरनगर से दारा सिंह प्रजापति और बिजनौर से चौधरी विजेंद्र सिंह को प्रत्याशी बनाया है।

कांग्रेस का खेल बिगाड़ सकती हैं मायावती

एक तरफ इंडिया एलायंस की कांग्रेस की तरफ से कोशिश है कि बसपा उनके साथ आ जाए तो वहीं, बसपा सुप्रीमो मायावती बार-बार अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान कर रही है। अब बसपा के इस ऐलान ने कांग्रेस की टेंशन बढ़ा दी है। अमेठी और रायबरेली से प्रत्याशियों को उतारने के बाद कांग्रेस को बड़ा झटका लगने का अनुमान है।