पैसा लेकर रामलला के दर्शन कराने की जांच करेगी पुलिस, चंपत राय ने दिया ये बयान

अयोध्या: रामनगरी अयोध्‍या में पैसा लेकर भगवान श्रीराम के दर्शन कराने की शिकायतों की जांच की जाएगी। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने मंगलवार (26 मार्च) को बयान जारी कर कहा कि श्री रामजन्मभूमि मंदिर में पैसा लेकर या टाइम स्लॉट देकर दर्शन की व्यवस्था नहीं है, लेकिन कुछ दुर्घटनाएं सामने आई हैं जिसकी जांच पुलिस करेगी। ट्रस्ट का इससे कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि जो भक्त लाइन में लगकर सहजता से श्रीरामलला के दर्शन करते हैं, उन्हें अच्छे दर्शन होते हैं।

बीते कई दिनों से ऐसी खबरें आ रही थीं, जिसमें कहा जा रहा था कि कुछ लोग पैसे लेकर और टाइम स्लॉट देकर अयोध्या में रामलला के दर्शन करवा रहे हैं, जबकि वहां पर इस तरह की कोई व्यवस्था नहीं है। इस पर चंपत राय ने वीडियो बयान भी जारी किया है।

महासचिव चंपत राय का बयान सुनिए  

महासचिव चंपत राय ने कहा कि सहज रूप से किसी भी श्रद्धालु को रामलला के दर्शन करने में एक से डेढ़ घंटे का समय लगता है और अगर दर्शन सुबह सात बजे या फिर रात को आठ बजे के बाद किए जाएं तो और भी कम समय लगता है। मंदिर में पैसे लेकर दर्शन कराने या टाइम स्लॉट देकर दर्शन कराने की व्यवस्था नहीं है। हालांकि, इस तरह की शिकायतें मिली हैं ऐसे लोगों की जांच की जाएगी।