सीएम योगी की फ्लीट दुर्घटना में 2 की मौत, आर्थिक सहायता देने की घोषणा

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की फ्लीट लखनऊ में दुर्घटनाग्रस्त हो गई। एयरपोर्ट से लौटते समय कुत्ते को बचाने के चक्कर में हादसा हो गया। हादसे में पांच पुलिसकर्मी, छह आम नागरिक घायल हुए हैं। घायलों में बच्चे भी शामिल हैं। कार हादसे पर जेसीपी उपेंद्र कुमार अग्रवाल का बयान आया है। उन्होंने बताया कि अर्जुनगंज में मरी माता मंदिर के पास सड़क हादसा हुआ। सुरक्षा में जिला पुलिस की गाड़ियां आगे चलती हैं। डेमो कार के रास्ते में अचानक कुत्ता आ गया। स्थानीय लोगों से पूछताछ में पता चला कि सड़क पर एक कुत्ता आ गया था, इंटरसेप्टर की गाड़ी उसे पार कर गई और पीछे की गाड़ियों को भी सूचित किया गया लेकिन उसके पीछे एक एंटी-डेमो गाड़ी थी जो इसके कारण असंतुलित हो गई और अन्य गाड़ी से टकरा गई।

इसी कड़ी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ट्रामा सेंटर पहुंचे हैं और घायलों का हाल जाना है। उनके साथ प्रमुख सचिव संजय प्रसाद, डीजीपी प्रशांत कुमार, पुलिस कमिश्नर, जेसीपी और डीएम भी ट्रामा सेंटर पहुंचे थे। बता दें की इस हादसे में दो घायलों की मौत हो गई है। सीएम योगी ने मृतक के परिजनों को सहायता राशि देने के निर्देश दिए हैं। मृतक के परिजनों को दो लाख रुपये दिये जाने के निर्देश दिए, जबकि गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार रुपये। सीएम योगी ने अनुग्रह राशि तत्काल वितरित किए जाने के लिए निर्देश दिये हैं। सीएम योगी ट्रामा सेंटर में भर्ती सभी घायलों से जाकर मुलाकात की और उनका हालचाल लिया।