पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी को हाईकोर्ट से राहत नहीं, कुर्क होगी संपत्ति

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश के पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी को संपत्तियां कुर्क होने के मामले में राहत नहीं मिली है। बस्ती की स्पेशल एमपी-एमएलए कोर्ट के आदेश पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने रोक नहीं लगाई है। बता दें कि एमपी-एमएलए कोर्ट ने अमरमणि त्रिपाठी को फरार घोषित किया है। यूपी डीजीपी और प्रमुख सचिव गृह से उसकी संपत्तियों को जल्द से जल्द कुर्क करने का आदेश दिया है।

अमरमणि त्रिपाठी ने एमपी-एमएलए कोर्ट के आदेश के खिलाफ इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी। उनकी इस याचिका पर बुधवार को हाईकोर्ट में जस्टिस संजय कुमार सिंह की सिंगल बेंच में सुनवाई पूरी हो गई। सुनवाई के दौरान अमरमणि त्रिपाठी द्वारा दाखिल किए गए रिकॉर्ड और यूपी सरकार के हलफनामे में तारीखों पर अंतर पाया गया।

15 मार्च को होगी अगली सुनवाई

इस पर हाईकोर्ट ने बस्ती की स्पेशल कोर्ट से आर्डर शीट के रिकॉर्ड सील बंद लिफाफे में पेश करने को कहा है। अब हाईकोर्ट में 15 मार्च को इस मामले की अगली सुनवाई होगी। बुधवार को हुई सुनवाई में अदालत ने स्पेशल कोर्ट के आदेश पर रोक लगाए जाने की अमरमणि त्रिपाठी की मांग को ना मंजूर कर दिया। इस मामले में हाईकोर्ट ने अंतरिम आदेश पारित नहीं किया।