‘युवा महाकुंभ’ रद्द होने पर काशी विद्यापीठ यूनिवर्सिटी में हंगामा, सपा और एनएसयूआई का प्रदर्शन

वाराणसी: समाजवादी पार्टी और एनएसयूआई की ओर से महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में ‘युवा महाकुंभ’ का आयोजन होना था। इसमें कांग्रेस नेता अजय राय और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव भी शामिल होने वाले थे, लेकिन विवि प्रशासन ने एक दिन पहले की कार्यक्रम निरस्त कर दिया। इसके बाद विद्यापीठ में बवाल मच गया। छात्र और विपक्षी दलों के नेता यूनिवर्सिटी गेट पर प्रदर्शन कर रहे हैं और कैंपस में भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है। मौके पर चीफ प्रॉक्टर के खिलाफ छात्रों की नारेबाजी जारी है।

कार्यक्रम के एलॉट हॉल को अचानक निरस्त कर किए जाने से छात्रों ने हंगामा खड़ा कर दिया। बवाल इतना बढ़ गया कि विद्यापीठ में पुलिस तैनात करनी पड़ी। छात्रों ने चीफ प्रॉक्टर और पुलिस से साथ तू-तू, मैं-मैं भी की और अपशब्द भी कहे। समाजवादी छात्र नेता ने तो खुलेआम आत्मदाह करने की धमकी तक दे दी है। कार्यक्रम रद्द करने के बाद छात्र यूनिवर्सिटी के गेट नंबर तीन पर धरना दे रहे हैं और हंगामा भी कर रहे हैं।

कार्यक्रम निरस्त होने के बाद कुलपति को बनाया था बंधक

यह बवाल गुरुवार सुबह बढ़ गया, लेकिन तनाव बुधवार से ही जारी रहा। बुधवार रात कार्यक्रम निरस्त होने की सूचना मिलते ही छात्र भड़क गए और कुलपति को बंधक बना लिया। वजह यह थी कि कार्यक्रम में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय राज और राजद नेता तेज प्रताप को भी शामिल होना था। इस पर कुलपति ने कहा कि यह राजनीतिक कार्यक्रम नहीं है, इसलिए किसी पार्टी के नेता को शामिल नहीं करना चाहिए। काफी देर तक छात्रों और कुलपति के बीच बहस भी हुई।